प्रतापगढ मे कवियो ने बांधा समां--